आपकी ये गलतियाँ, दे सकती है बुरी आत्माओं (भूत -प्रेत ) को निमंत्रण |

By | August 11, 2017

 || भूत -प्रेत और बुरी आत्माओं से बचने के उपाय ||

हिन्दू धरम के अनुसार असामयिक या किसी दुर्घटना के कारण किसी जातक की मृत्यु होने पर वह इस लोक और परलोक के बीच भटकता रहता है | उसके कर्मो के अनुसार वह पित्र योनी या भूत योनी को प्राप्त होता है | पित्र योनी को प्राप्त होने के पश्चात् वह देव बनकर अपने परिवार की रक्षा करता है | किन्तु भूत योनी को प्राप्त होने वाले प्राणी अपनी अधूरी इस्छओं को पूरा करने के लिए किसी ऐसे शरीर की तलाश करते रहते है जिन पर वे अपना प्रभाव दिखा कर अपनी इच्छाएं पूरी कर सके |

Bhoot pret se bachne ke upaay

पुराण अनुसार अपने कर्मों के आधार पर भूत योनी को प्राप्त होने वाली बुरी आत्माएं इसी लोक में रहती है | जो व्यक्ति आत्मबल से कमजोर होते है या जिनके गण कमजोर होते है  उन्हें इन बुरी आत्माओं का अभास भी समय -समय पर होता रहता है | यदि एक बार ये बुरी आत्माएं किसी व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाये तो बहुत ही मुश्किल से पीछा छोडती है |

हिन्दू धर्म के साथ -साथ बाकी सभी धर्म भी अच्छी और बुरी आत्माओं की इस सच्चाई को स्वीकार करते है | धर्म ग्रंथों के अनुसार भूत -प्रेत इसी लोक में रहते हुए भी मनुष्यों से एक दूरी बनाये रखते है | किन्तु कभी -कभी न चाहते हुए भी मनुष्य अपनी कुछ गलतियों द्वारा इन बुरी आत्माओं (भूत -प्रेतों ) को निमंत्रण दे बैठता है |

आइये जानते है मनुष्यों द्वारा किये गये ऐसे कार्यों के विषय में जिनके करने से बुरी आत्माएं (भूत -प्रेत ) मानव शरीर पर अपना प्रभाव दिखाना आरम्भ कर देती है :

⇒  किसी भी दोस्त या सगे संबधी की आकस्मिक मृत्यु हो जाने के पश्चात् जिनता जल्दी हो सके उसे भूला देना चाहिए | उसकी स्मृति उसे आपके पास आने का निमंत्रण दे सकती है |

⇒  रात के समय विशेष रूप से मंगलवार और शनिवार की रात को किसी भी शुनशान चौराहे को पार करते समय ध्यान दे उस जगह कहीं कोई टोना – टोटका तो नहीं किया हुआ है | ऐसे में आप उस टोटके के उपर से या उसे साइड से तब तक पार न करें जब तक कोई अन्य व्यक्ति उसे पार न कर ले | और उस टोटके को अनदेखा करते हुए बड़ी ही सावधानी से वहां से निकल जाएँ | इस प्रकार के टोने – टोटके के प्रभाव में आने से व्यक्ति पर बुरी आत्माओं का प्रभाव भी शुरू हो जाता है |

⇒  तेज गंध वाले परफ्यूम या इत्र को शमशान जैसी जगहों पर लगाकर जाने से भूत -प्रेत का डर बना रहता है | जहाँ तक संभव हो सके रात को सोते समय या बाहर जाते समय भी तेज गंध वाले परफ्यूम नहीं लगाने चाहिए |

⇒  गर्भवती महिलाएं बुरी आत्माओं के प्रभाव में बहुत ही शीघ्र आ जाती है | इसीलिए उन्हें गर्भ के समय बहुत ही सावधानी बरतनी चाहिए | रात को उन्हें कहीं बाहर नहीं जाना चाहिए |

⇒  हाथ में या सर पर महेंदी लगाकर घर से बाहर जाने पर भी बुरी आत्माएं उस व्यक्ति को अपनी गिरफ्त में ले सकती है |

⇒  बीमार व्यक्ति या जिस व्यक्ति का आत्मबल बहुत ही कमजोर हो उन्हें भी बुरी आत्माओं का भय बना रहता है | किन्तु यदि बीमार होने पर भी जिस व्यक्ति का आत्मबल मजबूत है उन्हें बुरी आत्माएं कोई हानि नही पहुंचा सकती |

⇒  ऐसे स्थान जो अब खंडहर बन चुके है जहाँ कोई रहता न हो, ऐसे स्थान पर बुरी आत्माओं का निवास हो सकता है | रात के समय ऐसे स्थान पर जाने से बचे |

⇒  खाने की मीठी वस्तुएं भूत – प्रेतों को बहुत प्रिय होती है | इसलिए घर से निकलते समय अपने साथ मीठी वस्तुएं ले जाने से जहाँ तक संभव हो सके बचना चाहिए | रात के समय विशेष रूप से इसका ध्यान रखे |

बुरी आत्माओं (भूत -प्रेत )  से बचने के उपाय 

बुरी आत्माओं से बचने के लिए आपने काफी जगह तरह -तरह के उपाय पढ़े होंगे | किन्तु वे सभी उपाय पढने मात्र ही है | उनको उपयोग कर पाना काफी कठिन होता है | आज हम आपको भूत – प्रेत से बचने के ऐसे उपाय बता रहे है तो बिलकुल ही साधारण और सरल है किन्तु बहुत ही असरदार है :-

रुद्राक्ष :-  आपने काफी जगह पढ़ा होगा कि रुद्राक्ष को गले में पहनने से भूत-प्रेत और बुरी शक्तियां दूर रहती है | यह सत्य है किन्तु रुद्राक्ष को   मात्र एक वस्तु के रूप में गले में धारण करने आपको पूर्ण फल की प्राप्ति नहीं होती है | इसके लिए आपको इसे पूर्ण विधि अनुसार धारण करना चाहिए | रुद्राक्ष की पूजा कर कुमकुम आदि का  टीका लगाने के पश्चात इसे सावन मास में या शिवरात्रि के दिन धारण करना चाहिए और समय -समय पर इसे पंचामृत से स्नान करा कर पवित्र भी रखना चाहिए | रुद्राक्ष की सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप ये Post देखे : – रुद्राक्ष सम्पूर्ण जानकारी | रुद्राक्ष धारण करें और पाए सभी कष्टों से निवारण |

हनुमान उपासना :-  अपने भक्तों के सभी कष्टों और भय को हरने वाले भगवान श्री राम भक्त हनुमान जी की उपासना करने से बुरी शक्तियों का भय समाप्त हो जाता है | किसी भी शुनशान जगह पर जाते समय यदि भय का आभास होने लगे तो हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए | यदि आपको अहसास होने लगे कि कोई बुरी शक्ति आपके आस -पास है और आप पर अपना प्रभाव दिखाने की कोशिश कर रही है तब  आप हनुमान चालीसा का पाठ थोड़े ऊँचे स्वर में करने लग जाये | हनुमान जी नियमित उपासना करें | समय -समय पर हनुमान जी के मंदिर जाकर उन्हें चौला चढ़ाये | 

hanuman ji pooja vidhi mantra

रात के समय सुनशान स्थान या किसी ऐसे स्थान जहाँ पर तांत्रिक क्रियाएं होती हो वहाँ जाने से बचे | और रात को सोते समय भूत – प्रेत आदि विषय पर बातें न करें |

⇒ ⇒ ||भूत -प्रेत भगाने का मंत्र | झाड़े द्वारा शरीर से भूत -प्रेत भगाए ||

⇒   किसी के दाह संस्कार से आने के पश्चात् घर में अन्दर जाने से पहले ही अच्छी तरह से हाथ पैर और मुह धो लेने चाहिए और अन्दर जाते ही तुरंत स्नान करना चाहिए | अन्यथा मृत व्यक्ति की आत्मा आप पर अपना प्रभाव दिखा सकती है |

⇒ ⇒ || बुरी नजर उतारने के सरल व प्रभावी टोटके ||


 

 

Loading...

2 thoughts on “आपकी ये गलतियाँ, दे सकती है बुरी आत्माओं (भूत -प्रेत ) को निमंत्रण |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *