गणेश जी के मंत्र

|| भगवान श्री गणेश जी मंत्र संग्रह ||

सभी विघ्नों को हरने वाले, रिद्धि -सिद्धि को प्रदान करने वाले भगवान श्री गणेश देवों में सबसे पहले पूजे जाते है | इनकी आराधना करने से घर में धन की वृद्धि होने के साथ – साथ बुद्धि का भी विकास होता है | सभी प्रकार के सुख – एश्वर्य प्राप्त करने के लिए इनकी पूजा करना विशेष फलदायी माना गया है |

गणेश जी के  प्रभावशाली मंत्र : – 

गणेश जी स्तुति मंत्र : – 

गजाननं भूतगणादि सेवितं

कपित्थ जम्बूफलसार भक्षितम् 

उमासुतं शोक विनाशकारणं

नमामि विघ्नेश्वर पादपङ्कजम् ॥

गणेश जी के आव्हान के लिए इस मंत्र का प्रयोग भी कर सकते है : – 

वक्रतुण्ड महाकाय कोटिसूर्य समप्रभ।
निर्विघ्नं कुरू मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा।।

आप किसी भी शुभ कार्य की शरुआत करते है तो सबसे पहले आप गणेश जी के स्तुति ( आव्हान ) मंत्र का उच्चारण अवश्य करें | उसके पश्चात् ही कार्य की शुरुआत करें |

गणेश जी मूल मंत्र ( गणेश बीज मंत्र ) :- 

|| ऊँ गं गणपतये नमः।।

इस मंत्र के नियमित उच्चारण से सभी कष्ट स्वतः ही दूर होने लगते है | इस मंत्र की एक माला का जाप आप पूजा के समय कर सकते है | या फिर आप कोई भी मंत्र साधना करते है तो प्रधान देव के मंत्र उच्चारण से पहले गणेश जी का आव्हान कर इस मंत्र की एक माला का जाप अवश्य करें |

गणेश जी को प्रसन्न करने हेतु इस मंत्र का उच्चारण करें : – 

गणेश गायत्री मंत्र :- 

ऊँ एकदन्ताय विहे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्तिः प्रचोदयात्।

यदि आप चाहते है कि भगवान श्री गणेश जी विशेष कृपा आप पर सैदव बनी रहे और वे आपसे प्रसन्न रहे तो आप इस मंत्र का उच्चारण प्रतिदिन पूजा के समय करें | इस मंत्र से पहले गणेश जी के स्तुति मंत्र का उच्चारण अवश्य करें |

गणेश जी की पूजा के समय इस मंत्र का उच्चारण करें : –

गणानां त्वा गणपतिं हवामहे प्रियाणां त्वा प्रियपतिं हवामहे |
निधीनां त्वा निधिपतिं हवामहे वसो मम आहमजानि गर्भधमा त्वमजासि गर्भधम् ||

गणेश जी कुबेर मंत्र : – 

|| ॐ नमो गणपतये कुबेर येकद्रिको फट स्वाहा ||

यदि आप आर्थिक समस्या से परेशान है | या फिर धन के स्त्रोत होते हुए भी धन संचय नही कर पा रहे है | तब आप गणेश जी के कुबेर मंत्र का उच्चारण पूजा के समय नियमित रूप से करें | घर में लक्ष्मी के स्त्रोत खुलने लगेंगे और आर्थिक संकट से मुक्ति मिलेगी |

आप इन मंत्रो द्वारा भी गणेश जी की आराधना कर सकते है : – 

|| ॐ श्री विघ्नेश्वराय  नमः ||

|| ॐ श्री गणेशाय नमः ||

⇒ || अपने घर में पूजा स्थल पर इस प्रकार से गणेश जी की स्थापना अवश्य करें ||

⇒ || किस प्रकार करें हनुमान जी की पूजा ? जानिए सरल व संशिप्त विधि ||