मंत्र सिद्धि के पश्चात् , मंत्र का परिक्षण किस प्रकार करें ?

By | July 19, 2017

सिद्ध मंत्र परिक्षण विधि 

जब साधन अपनी कठिन साधना के पश्चात् अपने मंत्र सिद्धि के कार्य को पूर्ण करता है | तब सबसे पहला संशय तो मंत्र साधना के पहले दिन से लेकर और कार्य पूर्ण होने तक यह बना रहता है कि वह जो मंत्र सिद्ध कर रहा है उसका प्रयोग सफल होगा कि नहीं | अगर इसी प्रकार की बातें मंत्र सिद्ध करते समय आपके मन में भी उठती है तो इनके विषय में बिलकुल सोचना छोड़ दे और अपनी साधना में पूर्ण ध्यान दे | क्योकि मंत्र सिद्ध के कार्य में सफलता आप पर निर्भर करती है | अगर आपने पूर्ण निष्ठा और विश्वास के साथ इस कार्य को पूर्ण किया है तो मंत्र १००% सिद्ध होता है |

siddh mantra ka prayog kaise karen

जैसे ही आप अपने मंत्र सिद्धि के कार्य को 41 दिन तक पूर्ण कर हवं करते है तब आप सिद्ध किये मंत्र का परिक्षण कर सकते है | इसके लिए आप यह सुनिश्चित करें की आपने मंत्र किस कार्य की पूर्णता के लिए सिद्ध किया है | जैसे आपने यदि मंत्र रोग निवारण के लिए सिद्ध किया है या रिद्धि -सिद्धि के लिए या फिर शत्रु दमन के लिए या मुकदमो में विजय प्राप्ति के लिए किया है या आपने जिस भी कार्य के लिए मंत्र सिद्ध किया है उस कार्य की पूर्णता के लिए अब इस मंत्र का आप प्रयोग करें | और देखे कार्य पूरा होता है कि नही | यदि कार्य नही होता है तो चिंता न करें | इस मंत्र का  5 मिनट के लिए मन ही मन जाप करें और अगले दिन फिर इस मंत्र का किसी भी छोटे से कार्य की पूर्णता के लिए प्रयोग करें जिसका परिणाम आपको तुरंत मिल सकता हो |      ⇒ || सभी रोग दूर करने का प्रभावशाली मंत्र व प्रयोग विधि ||

अब देखे, इस बार आपका कार्य पूर्ण हुआ या नही | यदि इस बार भी आपका कार्य पूरा नही होता है तो फिर से इसी प्रकार 5 मिनट के लिए मंत्र का जाप मन ही मन में करें और लगातार यह क्रिया कुछ दिनों तक चलने दे | कुछ दिनों बाद आपके मंत्रो में परिपक्वता आनी शुरू हो जाएगी | आप देखेंगे की आपके कार्य पूर्ण होने शुरू हो गये है | मंत्र का परिक्षण करते समय अपने उपर पूर्ण विशवास रखे कि मै जो यह मंत्र प्रयोग कर रहा हु वह १००% सफल होगा | इस प्रकार की भावना से आप मंत्र का प्रयोग करें | आप देखेंगे की आपके मन्त्रों में किस प्रकार से प्रबलता आनी शुरू हो जाती है | तत्पश्चात आप इस मंत्र का प्रयोग कभी भी कर सकते है इनका प्रयोग कभी भी निष्फल नही होगा |

मंत्र को सिद्ध किस प्रकार करें ? इसके लिए आप यह post देखे :-       || मंत्र सिद्धि कैसे करें ? ||

|| ॐ श्री हनुमते नमः ||


5 thoughts on “मंत्र सिद्धि के पश्चात् , मंत्र का परिक्षण किस प्रकार करें ?

  1. vijay chuhan

    Guruji…. muje mahakali sadhana ke liye margdarshan dijiye.

    Reply
    1. TARUN SHARMA Post author

      विजय जी अल्टीमेट ज्ञान में आपका स्वागत है | इसी प्रकार जुड़े रहे अल्टीमेट ज्ञान से |
      महाकाली का एक शाबर मंत्र जिसे आने वाले चन्द्र ग्रहण के लिए 26/07/17 को प्रकाश में लाया जायेगा |
      और महल्काली साधना के लिए आप अपना ये विडियो देखे
      https://www.youtube.com/watch?v=vrgx6sjhRr0

      धन्यवाद
      अल्टीमेट ज्ञान

      Reply
      1. Ashish Kumar Soni

        आपसेबात करनी है plz मुझे is नंबर पर miss call kare plz plz plz plz plz plz plz 8889037995

        Reply
  2. shikhar

    Guruji mai kisi bhi Devta ki puja Karoo toh Ghar mai jhagda hone Lagna hai samajh nahi araha kya kru

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *