हनुमान जी को चौला कैसे चढ़ाये ? 5 मंगलवार चढ़ाये हनुमान जी चौला, होगी सभी मनोकामनाएँ पूरी

हनुमान जी को कलियुग के सबसे जीवंत देवता इसलिए कहा गया है क्योंकि वे अतिशीघ्र प्रसन्न होकर अपने भक्त के सभी दुखों को हर लेते है | हनुमान जी की कृपा पाने के लिए भक्त को चाहिए कि वह पूर्ण निष्ठा और भक्तिभाव के साथ हनुमान जी सेवा में स्वयं को समर्पित कर दे | हनुमान जी की… Read More »

चाँदी की अँगूठी धारण करने से होने वाले लाभ

चाँदी धातु को सात्विक और शीतल माना गया है | चाँदी धातु मूल्य में भले ही सोने से कम हो किन्तु गुणों में सोने से कहीं अधिक है | चाँदी धारण करने से चन्द्र देव और शुक्र गुरु का आशीर्वाद मिलता है | चाँदी और सोने के आभूषण आमतौर पर महिलायें और पुरुष अपने सौंदर्य को निखारने के… Read More »

गोदावरी में स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर के दर्शन

कोटा में चंबल के पूर्वी किनारे पर यह मंदिर स्थित है | यह प्राचीन मंदिर सन 1043 वर्ष पूर्व का है | इस मंदिर का जीर्णोउद्धार 1963 को रामनवमी के शुभ दिवस पर श्री गोपीनाथ जी भार्गव के माध्यम से किया गया | मंदिर के अन्दर मैदान में सत्संग हाल बना है | 12 फुट ऊँचे चबूतरे पर… Read More »

जानियें, मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु कौन है ?

शत्रु का नाम सुनते ही एक आम व्यक्ति अपने शत्रुओं के विषय में सोचने लगता है | आम तौर पर यह एक मानवीय प्रवृति भी है कि व्यक्ति अपने शत्रु को समय-समय पर नीचा दिखाने में निरंतर प्रयत्नशील रहता है | किन्तु वह इस बात से अनभिग्य रहता है कि शत्रु के विषय में बार-बार सोचकर वह अपने… Read More »

नवरात्रि 2018 ! नवरात्रि पर्व में माँ दुर्गा पूजा की सरल और संक्षित्प विधि

हिन्दू धर्म में माँ दुर्गा को सबसे बड़ी शक्ति के रूप में पूजा जाता है | वैसे तो भक्त सम्पूर्ण वर्ष माँ दुर्गा की पूजा-आराधना कर सकते है | किन्तु नवरात्रि का समय माँ दुर्गा पूजन(Navratri 2018 me Maa Durga Pooja)का सबसे उत्तम समय माना गया है | हिन्दू धर्म में नवरात्रि का समय सबसे बड़े धार्मिक त्यौहार… Read More »

जानलेवा है किडनी की बीमारी | किडनी ख़राब होने पर दिखाई लेने वाले लक्षण

किडनी यानी गुर्दा हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है, लेकिन जब धीरे-धीरे इसकी कार्यक्षमता में कमी आने लगती है तो इसे हम क्रोनिक किडनी डिजीज कहते है | किडनी(Kidney Bimari ke Lakshan) की कार्यक्षमता में कमी आने के कई कारण है, मसलन उम्र का बढ़ना, ज्यादा मात्रा में नमक का सेवन करना, पानी कम पीना, टट्टी-पेशाब को… Read More »

शिव तांडव स्त्रोत | लंकापति रावण द्वारा रचित भगवान शिव की शक्ति और सौंदर्य का अद्भुत परिचय

शिव तांडव स्त्रोत मनुष्य के सभी पापों को हरने वाला व भगवान शिव की महिमा का गुणगान करने वाला बहुत ही सुंदर स्त्रोत है | सुनने में बहुत ही श्रवणप्रिय शिव तांडव स्त्रोत की रचना लंकापति रावण ने मात्र कुछ ही पलों में की थी | भगवान शिव के भक्त अपनी-अपनी श्रद्धा अनुसार भोलेनाथ की पूजा-आराधना करते है… Read More »

मानव जीवन में व्यायाम का महत्व | स्वस्थ शरीर की कुंजी है व्यायाम |

हमारा शरीर उस परमपिता परमेश्वर की दी हुई अमूल्य भेंट है जिसकी कीमत लगाना असम्भव है | जब तक जीवन है हमारा प्रथम कर्तव्य अपने शरीर के प्रति जागरूक होकर इसे अंत तक स्वस्थ रखने का प्रयास करना चाहिए | एक स्वस्थ शरीर का महत्व वह व्यक्ति बहुत अच्छे से समझ सकता है जिसने अपने शरीर को रोगों… Read More »

पंचमुखी हनुमान जी की कहानी | हनुमान जी ने पाँच मुख धारण क्यों किये ?

हनुमान जी की आराधना शीघ्र फल प्रदान करने वाली है | जो भक्त नियमित हनुमान जी की पूजा-आराधना करते है उन्हें हर प्रकार के भय, शत्रु आदि से छुटकारा मिलता है व सम्पूर्ण जीवन सुखमय व्यतीत करता है | आज हम आपको हनुमान जी के पंचमुखी(Panchmukhi Hanuman Ji Ki Kahani) रूप धारण करने की कहानी के विषय में… Read More »

Bhagwan Goutam Buddh Jivani | भगवान गौतम बुद्ध – जीवनी

बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध को विश्व के प्रसिद्द धर्म सुधारकों व दार्शनिकों में सबसे अग्रणी माना जाता है | दूसरों के प्रति दया, करुणा भाव रखने वाले गौतम बुद्ध सभी के लिए प्रेरणा के स्त्रोत है | भगवान गौतम बुद्ध का जन्म 563 ई. पु. में कपिलवस्तु के पास लुम्बिनी वन में हुआ | आपके पिता… Read More »