श्याम झूले – हनुमत झूले भजन Lyrics हिंदी

By | March 14, 2022

कलियुग में भगवान श्री कृष्ण, श्याम जी के नाम अधिक पूजे जाने लगे है | श्याम जी के भजन आजकल बहुत ही लोकप्रिय हो रहे है | श्याम जी पर आधारित बहुत से ऐसे भजन है जिनको सुनते है मन में भक्ति भाव आने लगते है | मन प्रसन्नचित होने लगता है | ऐसे ही भजनों में से एक है श्याम जी का एक भजन आज हम आपको देने जा रहे है जो भक्तों में बहुत ही प्रचलित हो रहा है |

Shyam Jhule Bhajan Lyrics Hindi

shyam jhule bhajan lyrics hindi

श्याम झूले हनुमत झूले भजन Lyrics हिंदी

श्याम झूले, हनुमत झूले, झूलें शंकर त्रिपुरारी,
राधा रानी झूला झूलें ओढ़े चुनर तारा री ||

श्याम झूले, हनुमत झूले, झूलें शंकर त्रिपुरारी,
राधा रानी झूला झूलें ओढ़े चुनर तारा री ||

दादुर मोर पपीहा बोले,शीतल पड़े फुहार,
छटा छबीली रंग रंगीली, खिल रही केसर क्यार |
ब्रम्हा विष्णु शंकर आये, और बजरंगी बलवान,
राधा झूला झूलन आई, और आये मदन मुरार ||

श्याम झूले, हनुमत झूले, झूलें शंकर त्रिपुरारी,
राधा रानी झूला झूलें ओढ़े चुनर तारा री ||

कैलाश से भोले आए है, बजरंगी वीर पधारे है,
बजरंगी वीर पधारे है, जो राम के सेवक प्यारे है |

जो राम के सेवक प्यारे है, सब भक्तो के रखवारे है,
सखिया आई बरसाने से, मनमोहन की प्यारी,
राधा रानी झूला झूले, ओढ़े चुनर तारा री ||

सुन मुरली वाले की मुरली, बजरंग हुए मतवाले है,
बजरंग हुए मतवाले है, सुध भूले डमरू वाले है |

सुध भूले डमरू वेल है, जो माँगो देने वाले है,
राधे श्याम का दर्शन करने, देखो आये त्रिपुरारी,
राधा रानी झूला झूले, ओढ़े चुनर तारा री ||

हनुमान झूले भोले झूले, झूले कृष्ण मुरारी है,
झूले कृष्ण मुरारी है, जिनके संग राधा प्यारी है |

जिनके संग राधा प्यारी है, और बृज की सखिया सारी है,
राधे श्याम की जोड़ी सबको, देखो लगती प्यारी है,
राधा रानी झूला झूले, ओढ़े चुनर तारा री ||

सावन की तीजो का मेला, हर एक मन को भाया है,
हर एक मन को भाया है, भक्तो ने खूब सजाया है |

भक्तो ने खूब सजाया है, शर्मा दर्शन को आया है,
लख्खा भी झांकी पे इनकी, देखो जाये बलिहारी,
राधा रानी झूला झूले, ओढ़े चुनर तारा री ||

श्याम झूले, हनुमत झूले, झूलें शंकर त्रिपुरारी,
राधा रानी झूला झूलें ओढ़े चुनर तारा री ||

श्याम झूले, हनुमत झूले, झूलें शंकर त्रिपुरारी,
राधा रानी झूला झूलें ओढ़े चुनर तारा री ||

Shyam Jhule Bhajan Lyrics Hindi

भजन के माध्यम से देव भक्ति करने का अपना ही एक अलग आनंद है | कर्णप्रिय भजन सुनने से एक तो मन प्रसन्न होता है और साथ में देव भक्ति भी स्वतः ही हो जाती है | भजन सुनते समय अपना ध्यान अपने देव की तरफ रखे | यदि आप भजन का गायन भी करे तो प्रयास करें कि आपके द्वारा भोले गये स्वर बहुत ही मधुर व कर्णप्रिय होने चाहिए जिससे अन्य सुनने वाले का मन भी प्रसन्नचित हो उठे |