श्री दुर्गा चालीसा पढ़ने के अद्भुत फायदे/लाभ

माँ दुर्गा चालीसा के बिना मां दुर्गा की पूजा अधूरी मानी गई है। कहा जाता है कि शत्रुओं से मुक्ति, इच्छा पूर्ति के साथ सभी मुरादें दुर्गा चालीसा का पाठ नवरात्रि के समय करने से हो जाता है। धर्म की रक्षा और संसार से अंधकार मिटाने के लिए मां दुर्गा उत्तपति हुई है। शास्‍त्रों में कहा गया है… Read More »

राहु गृह शांति online पूजा

राहु को छाया ग्रह कहा जाता है,  यह रोगकारक ग्रह होता है। कई बार देखा जाता है की जातक की कुंडली में राहु खराब या अशुभ स्थिति में हो तो जातक को अनेक प्रकार की मानसिक, आर्थिक और शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। राहु की अशुभता को दूर करने के लिए राहु शांति पूजा की जाती… Read More »

काल सर्प दोष निवारण हेतु Online अनुष्ठान

कुंडली में कालसर्प दोष के होने का मुख्य कारण पूर्वजन्म में किये गये पाप या फिर पित्र दोष होते है | कुंडली में जन्म लग्न चक्र में जब सभी गृह राहू और केतु के बीच में आ जाते है तो पूर्ण रूप से घातक कालसर्प दोष बनता है | इस प्रकार छाया गृह – राहू और केतु के… Read More »

सिद्ध केतु यंत्र के लाभ व यंत्र को सिद्ध करने की सरल विधि

राहु और केतु गृह को छाया गृह माना गया है | यहाँ छाया गृह से आशय है कि ये दोनों गृह वास्तविक रूप से अपनी छवि नहीं रखते किन्तु जिस भी गृह के साथ ये गृह होते है उसके अनुरूप ही दोनों ग्रहों से शुभ व अशुभ फल देखने को मिलता है | कुंडली में केतु गृह पीड़ित… Read More »

भोजपत्र पर निर्मित श्री बुध यंत्र के लाभ व सिद्ध करने की विधि

बुध गृह को खूबसूरती व बुद्धि का कारक माना गया है | जातक के बोलने की कला व व्यवहार आदि बुध गृह से संचालित होते है | जिस जातक की कुंडली में बुध गृह स्वामी होता है वे तेज दिमाग वाले व तीव्र बुद्धि के स्वामी होते है | इसके विपरीत कुंडली में बुध कमजोर होने पर सोचने… Read More »