Category Archives: ज्योतिष शास्त्र

असाध्य रोग का ज्योतिष विज्ञान और नकारात्मक शक्तियों से संबंध

मानव जीवन में सुख और दुःख समय-समय पर आते रहते है | किन्तु जब रोग के रूप में कष्ट आता है तो व्यक्ति मानसिक रूप से टूटने लगता है | शरीर में किसी भी रोग के लगने पर प्रथम शरीर कमजोर होने लगता है और दूसरा मानसिक रूप से भी यह रोगी को विकृत करने लगता है |… Read More »

वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा घर किस दिशा में होना चाहिए ?

जो जातक ज्योतिष में विश्वास रखते है वे वास्तु शास्त्र के विषय में भी अवश्य अवगत होंगे | वास्तु शास्त्र के अनुसार किसी भवन का निर्माण उसे न केवल सुन्दर व आकर्षित बनाता है बल्कि ऐसे भवन में सकारात्मक उर्जा का वास होता है | वास्तु शास्त्र के अनुसार निर्मित भवन में सुख-शांति के साथ-साथ लक्ष्मी जी का… Read More »

कुंडली में सूर्य कमजोर होने पर ज्योतिषीय उपाय | कुंडली में सूर्य के प्रभाव

ज्योतिष के अनुसार एक कुंडली की रचना 9 ग्रहों के तालमेल से होती है | सभी 9 ग्रहों में सूर्य को प्रधान माना गया है | सूर्य से जोड़कर ही सभी ग्रहों को देखा जाता है | सूर्य देव के प्रधान देव भगवान श्री विष्णु को माना गया है | सप्ताह में रविवार का दिन सूर्य देव की… Read More »

कुंडली में चंद्रमा की अशुभ स्थिति होने पर करें ये उपाय

जो लोग ज्योतिष विद्या में विश्वास रखते है वे ग्रहों के अनुकूल और प्रतिकूल प्रभावों से भी परिचित अवश्य होंगे | ग्रहों के दोष जातक के जीवन को नरक जैसी यातनाएं देते है | किन्तु समय रहते इनका उपाय कर लेने पर ग्रहों के प्रतिकूल प्रभावों को कम किया जा सकता है | चंद्रमा एक शीतल गृह है… Read More »

नया घर बनाने से पहले करें, ये ज्योतिष उपाय | हर में हमेशा सुख -शांति रहेगी

एक व्यक्ति के विवाह के पश्चात न केवल उसका परिवार बड़ा हो जाता है बल्कि आधुनिक समाज की द्रष्टि से परिवार नियोजन को ध्यान में रखते हुए कभी न कभी नया घर उसे बनाना ही पड़ता है | आज के समय में नया घर बनाना बहुत ही कठिन कार्य है | नया घर बनाने में एक व्यक्ति के… Read More »