Category Archives: पूजा विधि

सुंदर काण्ड पाठ करने की विधि

सुन्दरकाण्ड, तुलसीदास जी द्वारा रचित श्री रामचरित मानस का ही एक अध्याय है | जिसमें हनुमान जी की सफलता का वर्णन किया गया है | हनुमान जी को प्रसन्न करने के बहुत से उपाय है जिनमें सुंदरकाण्ड पाठ द्वारा उनका स्मरण करना सबसे अधिक प्रभावी माना गया है | ऐसा माना गया है कि जो लोग लगातार 41… Read More »

हनुमान जी का चमत्कारी लॉकेट ! नजर दोष, भूत-प्रेत और सभी नकारात्मक शक्तियों से पायें मुक्ति

हनुमान जी की आराधना शीघ्र फल प्रदान करने वाली मानी गयी है | हनुमान जी अपने भक्तों पर शीघ्र प्रसन्न होकर उन्हें फलीभूत करते है | संकट के समय में यदि आप सच्चे मन से हनुमान जी को याद करते है तो हनुमान जी आपके संकट अवश्य दूर करते है | शास्त्रों में वर्णित है कि कलियुग के… Read More »

सम्पूर्ण शिव चालीसा ! शिव चालीसा को सिद्ध करने की विधि

हिन्दू धर्म में भगवान शिव को सर्वोच्च शक्ति के रूप में जाना गया है | भगवान शिव ही इस संसार के संहारक है | उन्ही की शक्ति से इस धरा का अस्तित्व है | जो जातक शिव तत्व की उपासना करते है वे संसार के सभी सुखों को भोगते है व मृत्यु के भय से मुक्त होते है… Read More »

श्री लक्ष्मी नारायण पूजन विधि

हिन्दू धर्म में मूर्ति पूजन को विशेष महत्व दिया गया है | मूर्ति पूजा के रूप में देव के स्वरूप का मनन कर उनका काल्पनिक रूप से साक्षात्कार किया जाता है साथ ही मूर्ति पूजा देव के प्रति आपकी निष्ठा व सम्मान को व्यक्त करती है | आज हम आपको भगवान श्री लक्ष्मी नारायण की विधिवत पूजा के… Read More »

सूर्य देव को जल देने की सही विधि ! सूर्य को अर्ध्य देते समय ये गलतियाँ भूलकर भी न करें

हिन्दू धर्म में वैदिक काल से सूर्य देव की पूजा करने की परंपरा चली आ रही है | सूर्य पूजा में सूर्य को जल देना(Surya Ko Jal Dene Ki Vidhi) जिसे हम सूर्य को अर्ध्य देना भी कहते है सबसे महत्वपूर्ण है | इस धरा पर उर्जा के एकमात्र स्त्रोत सूर्य ही है | इस सृष्टि के सृजन… Read More »

हिन्दू धरम में पूजा के समय दीपक जलाने का महत्व

इस धरा पर रहने वाला हर जातक किसी न किसी धर्म को अपनाता है | उसी धरम के अनुरूप ही वह जीवन निर्वाह करता है और धरम के पथ का अनुसरण भी करता है साथ ही अपनी आने वाली पीढ़ी को भी इसी धरम का अनुसरण करने के लिए मार्गदर्शन भी करता है | आज हम आपको हिन्दू… Read More »

हनुमान जी की आरती

किसी भी देव की आराधना के समय अंत में उनकी आरती अवश्य की जाती है | कलियुग के समय में हनुमान जी की आराधना करना विशेष रूप से फल प्रदान करने वाला माना गया है | हनुमान जी की आराधना के समय भक्त हनुमान चालीसा पाठ , बजरंग बाण पाठ , हनुमान अष्टक पाठ या मंत्र जप द्वारा… Read More »

शनिदेव पूजा विधि ! शनि दोष दूर करने के लिए इस प्रकार करें शनि पूजन

हिन्दू धर्म में शनि देव को आपके कर्मो के फल देने वाले देव के रूप में जाना जाता है | शनि देव एकमात्र ऐसे देव है जो जातक को उसके कर्म के अनुसार फलीभूत करते है और दण्डित भी करते है | यह जातक के कर्मो के अनुसार निर्णित किया जाता है कि उसने किस प्रकार के कर्म… Read More »

नवरात्रि में इस प्रकार करें माँ दुर्गा पूजा ! नवरात्रि में ध्यान रखने योग्य बातें और मंत्र साधना विधि

वर्ष में चार बार नवरात्रि का समय आता है जिसमें से 2 बार गुप्त नवरात्रि आते है गुप्त नवरात्रि के समय जो साधक शक्ति की उपासना करना चाहते है वे इसी समय का चुनाव करते है | शेष 2 नवरात्रि को सम्पूर्ण भारत वर्ष में हर घर में एक पर्व के रूप में मनाया जाता है | यह… Read More »

गणेश जी को खुश करने के उपाय ! गणेश जी की पूजा किस प्रकार करें ?

भगवान श्री गणेश बुद्धि के देव माने गये है और इस संसार में बुद्धि के बल पर हर असंभव कार्य को भी संभव बनाया जा सकता है | हिन्दू धर्म में भगवान श्री गणेश को सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त है इसलिए उनकी पूजा सबसे पहले की जाती है | किसी भी देव या देवी की पूजा-उपासना और अनुष्ठान आदि… Read More »