भगवान श्री विष्णु के मूल मंत्र द्वारा उनकी आराधना कैसे करें ?

भगवान श्री विष्णु को सृष्टि के मूल तीन देवों में से एक माना गया है | भगवान श्री विष्णु इस सृष्टि के पालनकर्ता है | एक जातक अपने जन्म से लेकर मृत्यु तक जो भी सुख-दुःख अनुभव करता है वे सभी भगवान श्री विष्णु कृपा पर ही निर्भर है | भगवान श्री विष्णु (Bhagwan Vishnu Mantra Aradhna)को स्वभाव… Read More »

तनाव से मुक्ति कैसे पायें ? तनाव दूर करने के ये उपाय, आपका जीवन बदल देंगे

समय बदलने के साथ-साथ मनुष्य के जीवन में भी इतना अधिक परिवर्तन आया है कि आज के समय में पैसा कमाना ही सब कुछ बनकर रह गया है | पैसे कमाने की चाह में, दूसरों से आगे निकलने की दौड़ में इंसान अपने स्वास्थ्य की तरफ बिल्कुल ही ध्यान नहीं दे पाता | शारीरिक बिमारियों के साथ-साथ नई-नई… Read More »

अप्सरा साधना विधि एवं लाभ | अप्सरा साधना से होती है जातक की सभी इच्छाएं पूर्ण

भगवान ने मनुष्य को हाथ-पैर और बुद्धि के साथ-साथ सीमित शाक्तियाँ ही प्रदान की है किन्तु इस बुद्धि का प्रयोग ठीक प्रकार से किया जाये तो यह मनुष्य को असीमित शक्तियों का मालिक बनाने के साथ-साथ स्वयं भगवान को जानने व उसे प्राप्त करने का मार्ग भी प्रदर्शित करती है | अध्यात्म की द्रष्टि से एक जातक का… Read More »

बीकानेर के चमत्कारी बड़े गणेश जी मंदिर, एक दर्शन

काशी के नाम से विख्यात बीकानेर अपने धर्म परायण स्वरुप के लिए जाना जाता है | इस छोटी काशी का पश्चिमी हिस्सा धर्म भूमि के रूप में देखा जाता है | मठों, मंदिरों, बगेचियों का यह क्षेत्र एक प्रकार से तीर्थों का गढ़ है | रियासत काल के राजाओं ने भी बीकानेर की जानता की धार्मिक भावना को… Read More »

लोना चमारी कौन थी ? लोना चमारी शाबर मंत्र साधना विधि

लोना चमारी साधना बहुत ही शीघ्र फल प्रदान करने वाली मानी गयी है | इस साधना में सिद्धि प्राप्त करने पर साधक हर प्रकार के वशीकरण, भूत-प्रेत से छूटकारा, डाकिनी-शाकिनी से मुक्ति इस प्रकार के हर कार्यो में सफलता प्राप्त करता है | शाबर मन्त्रों में भी लोना चमारी की दुआई का बड़ा महत्व माना गया है |… Read More »

भगवान शिव की उपासना सोमवार के दिन ही क्यों ?

शिवपुराण के अनुसार भगवान शिव की उपासना सप्ताह के प्रत्येक दिन फल देने वाली है तो फिर ऐसा क्या कारण है कि भगवान शिव की उपासना के लिए सोमवार का दिन विशेष फल देने वाला है | ऐसा प्रतीत होता है कि मनुष्य मात्र को सम्पत्ति से अत्यधिक प्रेम होता है | इसलिए उसने शिव के लिए सोमवार… Read More »

गलत तरीके से कमाया गया धन, आपकी खुशियों को ले डूबता है

आज के समय में हर व्यक्ति धन प्राप्ति की चाह में इस तरह से अंधा बन गया है कि उसके पास यह चिंतन करने का ही समय नहीं है कि वह जिस मार्ग द्वारा वह धन अर्जित कर रहा है, क्या नैतिक द्रष्टि से वह उचित है ? धन की देवी को लक्ष्मी कहा गया है | माँ… Read More »

मंगला चमारी साधना विधि !

इस धरा पर जैसे सभी मनुष्य एक जैसे नहीं है उसी अनुसार धर्म में भी भिन्नता है | लेकिन सभी धर्म मनुष्य को एक ही रास्ता दिखाते है वह है सद्मार्ग पर चलने का | आज हम आपको इस्लाम धरम से जुडी एक ऐसी साधना के विषय में जानकारी देने वाले है जिसके सिद्ध करने पर वह एक… Read More »

जन्म कुंडली में ग्रहों को अनुकूल बनाने के उपाय ! ग्रहों को मददगार कैसे बनाये ?

ज्योतिष शास्त्र के सिद्धांतों के अनुसार गृह अपने फल देते है | उनके लिए कोई उपाय शास्त्र में नहीं बताये गये है | किन्तु गृह राशी की संदेहास्पद स्थिति हो तब उनके उपाय करने के विधान शास्त्र सम्मत माने जाते है | अनिष्ट ग्रहों के विश्वासघात से बचने के लिए उपाय करना मानव के हाथ में है |… Read More »

भगवान शिव ने काल की रचना कैसे की ?

शिव महापुराण के अनुसार प्राणियों की आयु का निर्धारण करने के लिए महाकाल भगवान शंकर ने काल की कल्पना की | उसी से ही ब्रह्मा से लेकर अत्यंत छोटे जीवों तक की आयुष्य(आयु) का अनुमान लगाया जाता है | उस काल को ही व्यवस्थित करने के लिए महाकाल ने सप्तवारों की कल्पना की | सबसे पहले ज्योतिष स्वरुप… Read More »