अपने कुलदेव और कुलदेवी को भूल गये है तो इस प्रकार कुलदेव और कुलदेवी को पहचाने

आज हमारी भारतीय सभ्यता ने पाश्चात्य सभ्यता को इस हद तक अपना लिया है कि लोग अपने कुलदेव और कुलदेवी को ही भूलने लगे है | इसका मुख्य कारण अपने परिवार जन से लम्बे समय तक अलग रहना या विदेश में निवास स्थान बना लेना हो सकता है | जब हमें अपने कुलदेव और कुलदेवी(Kuldev Kuldevi) के विषय… Read More »

विद्वता और मानवता ! क्या हम मनुष्य है ? एक प्रेरणात्मक कहानी

एक समय की बात है जब एक स्थान पर बहुत बड़ा मंदिर हुआ करता था | उसमें रोजाना हजारों यात्री दर्शन करने के लिए आते थे | एक दिन अचानक किसी दुर्घटना वश मंदिर का प्रथान पुजारी मर गया | मंदिर के महंत को दुसरे पुजारी की आवश्यकता हुई और उन्होंने घोषणा करा दी जो कल सवेरे पहले… Read More »

6 मुखी रुद्राक्ष के लाभ | सिद्ध-अभिमंत्रित व इसे धारण करने की विधि

रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के रूद्र से हुई है इसलिए इसका नाम रुद्राक्ष पड़ा | रुद्राक्ष को पूर्ण विधिवत व श्रद्धा अनुसार धारण करने से भगवान शिव की तो विशेष कृपा प्राप्त होती ही है साथ में रुद्राक्ष को उनके मुख के अनुसार धारण करने से अलग-अलग देवों द्वारा भी आशीर्वाद प्राप्त होता है | एक से… Read More »

घर में नकारात्मक उर्जा का पता इस प्रकार लगाये

इस धरा पर दो तरह की उर्जा हर समय अपने प्रभाव में रहती है | ये दो तरह की उर्जा जिसमें एक सकारात्मक उर्जा तो दूसरी नकारात्मक उर्जा | ये दोनों तरह की उर्जा अलग-अलग प्रकार से सभी सजीव वस्तुओं पर अपना प्रभाव दिखाती है | जिस स्थान पर सकरात्मक उर्जा होती है वहां नकारात्मक उर्जा नहीं होती… Read More »

भूत-प्रेत दूर भगाए ! इस ताबीज को गले में धारण करें

भूत-प्रेत जैसी नकारात्मक शक्तियाँ हमारे बीच ही इस धरा पर विद्यमान होती है | इनका प्रभाव अधिकतर ऐसे स्थानों पर होता है जहाँ लोगों का आना-जाना कम होता हो या जिस स्थान पर साफ़-सफाई न होती हो | जिस स्थान पर तांत्रिक गतिविधियाँ होती है उस स्थान पर भी ये विद्यमान होते है | जहाँ समाज का अधिकतर… Read More »

भैरव के 7 चमत्कारिक मंत्र ! मंत्र द्वारा भैरव उपासना

भैरव बाबा अपने भक्तों पर शीघ्र प्रसन्न होकर उन्हें फल प्रदान करते है | सभी प्रकार की नकारात्मक शक्तियों से मुक्ति पाने के लिए व स्वयं को और अपने परिवार को ऊपरी बाधाओं से सुरक्षित रखने में भैरव आराधना चमत्कारिक परिणाम देने वाली है | यूँ तो सभी भक्त अपने-अपने श्रद्धा भाव से भिन्न-भिन्न प्रकार से भैरव आराधना… Read More »

भैरव जी और हनुमान जी का नाम सुनते ही भूत क्यों भागने लगते है ?

तन्त्र विद्या में भैरव जी को एक विशेष देव स्थान प्राप्त है | अनेक तांत्रिक भैरव जी की शक्ति प्राप्त करके उनकी सिद्धि शक्ति से भूतों को भगाने में सफल होते है | भूत विद्या में भैरव शक्ति सबसे उपयोगी मानी जाती है | भैरव जी का काला रूप ही भूतों को भगाने का साधन माना गया है… Read More »

भैरव के 108 नाम द्वारा भैरव उपासना

कलियुग में भैरव बाबा की उपासना आपके सभी दुखों-कष्टों को दूर करने में फलदायी मानी गयी है | तंत्र शास्त्र में भी भैरव बाबा को प्रमुख माना गया है | यद्यपि सभी भैरव भक्त अपने-अपने श्राद्ध भाव द्वारा भैरव उपासना करते है और उन्हें प्रसन्न करने का यत्न करते है | लेकिन किसी भी देव आराधना में सबसे… Read More »

गुरु दशा में हल्दी गांठ का महत्व व हरिद्रा गणपति

हल्दी को ब्रहस्पति(गुरु) का मूल माना जाता है | ब्रहस्पति(गुरु) से अधिक शुभ गृह दूसरा नहीं है | जन्मकुंडली में ब्रहस्पति थोडा भी शुभ स्थिति में है और जातक को उसकी महादशा मिल जाए तो व्यक्ति उस दशा में चौतरफा उन्नति करता है | वैसे अधिकतर पाया जाता है कि यदि ब्रहस्पति(c)शुभ नहीं है तब भी उसकी महादशा… Read More »

भगवान शिव- सिद्ध तांत्रिक यंत्र ! हर प्रकार के कार्य सिद्ध करने का अचूक उपाय

भगवान शिव का यह तांत्रिक यंत्र स्वयं में असीमित शक्तियां रखता है | हमारे शास्त्रों में यंत्र द्वारा पूजा का विशेष महत्व माना जाता है | भगवान शिव के इस तांत्रिक यंत्र/Shiv Tantrik Yantra द्वारा उनकी आराधना करने से जातक के हर प्रकार के कार्य सिद्ध होने लगते है, चाहे वह कार्य मनोकामना पूर्ति हेतु हो या फिर… Read More »