जयपुर में स्थित सूर्यदेव मंदिर , एक दर्शन

महाराजा सवाई जयसिंह जी ने जयपुर को बसाने से पूर्व नगर की सुख सम्रद्धि के लिए चारों दिशाओं में भगवान को विराजमान किया था | जिसके तहत पुर्व में भगवान सूर्यदेव, पश्चिम में चांदपोल स्थित हनुमान जी, दक्षिण में मोतीडूंगरी के गणेश जी तथा उत्तर में गड गणेश जी को विराजमान किया था | जयपुर रियासत के राजा… Read More »

यक्षिणी साधना क्या है ? यक्षिणी साधना के प्रकार व मंत्र

यक्षिणी साधना भी देव साधना के समान ही सकारात्मक शक्ति प्रदान करने वाली है | आज के समय में बहुत ले लोग यक्षिणी साधना को किसी चुड़ैल साधना या दैत्य प्रकर्ति की साधना के रूप में देखते है | किन्तु यह पूर्णरूप रूप से असत्य है | जिस प्रकार हमारे शास्त्रों में 33 देवता होते है उसी प्रकार… Read More »

कोटा के पाटनपोल में स्थित भगवान मथुराधीश जी मंदिर की कहानी

Mathuradheesh Mandir Kota Rajasthan वल्लभ के सप्त उपपीठों में प्रथम स्थान कोटा के मथुरेश जी का है | कोटा के पाटनपोल में भगवान मथुराधीश जी का मंदिर/(Mathuradheesh Mandir Kota Rajasthan) है , इसी कारण यह नगर वैष्णव सम्प्रदाय का प्रमुख तीर्थ है | मंदिर एवं उसके आस-पास के क्षेत्र की स्थिति श्री नाथ द्वारा की प्रतिकृति प्रतीत होती… Read More »

पेट दर्द दूर करने का सबसे सरल और 100 % प्रभावशाली उपाय

आज के मशीनीकरण के समय में मनुष्य ने स्वयं को इतना व्यस्त कर लिया है कि उसके पास समय ही नहीं है खुद की देखभाल करने का | जब व्यक्ति अपने शरीर की ठीक से देखभाल नहीं करता तो एक समय के बाद उसका शरीर भी उसका साथ छोड़ने लगता है और छोटी-छोटी बीमारियाँ हर समय उसे अपनी… Read More »

Husband Vashikaran Mantra | पति को वश में करने का प्रभावशाली मंत्र |

प्राचीन काल से ही कार्यों को सिद्ध करने के लिए वशीकरण विद्या का प्रयोग किया जाता रहा है | वशीकरण विद्या का प्रयोग हिन्दू धरम में नहीं अपितु सभी धर्मों में समय-समय पर किया जाता रहा है | वशीकरण के माध्यम से किसी भी पुरुष या महिला को अपने वश में कर अपने कार्य को सिद्ध किया जा… Read More »

परहित से बढ़कर और कोई धर्म नहीं !

Sabse Bada Dharam Kya Hai यदि भक्ति की समग्र व्याख्या की जाए तो यह अपने आराध्य देव के सम्मुख बैठ कर केवल कुछ प्रार्थना करना, मांग लेना अथवा पुजन के आयोजन को दूसरों के सामने प्रकट करना नहीं है | आज के समय में भक्ति प्रदर्शन से अधिक जुड़ गयी है | कई भक्ति यह चाहते है कि… Read More »

हनुमान चालीसा पाठ करने की विधि एवं लाभ

जब कभी भी किसी भक्त की निष्ठा की बात होती है तो हनुमान जी से बढ़कर और कोई नहीं | भगवान श्री राम के प्रति उनकी भक्ति सभी भक्तों के लिए प्रेरणा स्त्रोत है | हनुमान जी के जैसा भक्त न कोई हुआ है और न होगा | इसलिए भगवान श्री राम के आशीर्वाद से हनुमान जी को… Read More »

Interview में सफलता पाने के अचूक टोटके

वर्तमान समय में प्रतिस्पर्धा इतनी अधिक बढ़ गयी है कि एक आम इंसान के लिए नौकरी प्राप्त करना जीवन का सबसे बड़ा लक्ष्य बन गया है | एक समय था जब थोड़े से प्रयत्न के बाद आसानी से नौकरी मिल जाती थी | लेकिन आज तो नौकरी प्राप्त करने के जो समीकरण है वे आपके सामने है |… Read More »

रतनगढ़ के प्रसिद्द ताल वाले बालाजी का मंदिर

राजस्थान के चुरू जिले के रतनगढ़ में स्थित हनुमान जी का यह मंदिर ताल वाले बालाजी के नाम से प्रसिद्द है | जो कि जिला मुख्यालय से पश्चिम दिशा में 48 km दूरी पर रतनगढ़ स्टैंड के पास स्थित है | यह मंदिर पूर्वकालीन राजाओं द्वारा स्थापित है | इस प्राचीन प्रतिमा की स्थापना अयोध्या के हनुमान गढ़ी… Read More »

राहु-केतु गृह दोष ! राहु-केतु की दशाएँ व निवारण के सरल उपाय

राहु और केतु :- राहु और केतु का वास्तविक रूप में सौरमंडल के ग्रहों में अस्तित्व न होते हुए भी ज्योतिष की द्रष्टि में बहुत महत्व है | राहु और केतु को छाया गृह कहा जाता है | इनका वास्तविक अस्तित्व न होते हुए भी ये गृह मानव जीवन को कभी भी अस्त-व्यस्त कर सकते है | शनि… Read More »