Category Archives: ज्योतिष शास्त्र

काले घोड़े की नाल से बनी Ring के लाभ एवं धारण करने की विधि

ज्योतिष शास्त्र में गृह के दोषों और उनके उपाय हेतु नवरत्न और उनके उपरत्नो का बड़ा महत्व माना गया है | इनके साथ ही एक लोहे धातु से बनने वाली साधारण सी दिखाई देने वाली Ring भी इसी श्रेणी में आती है | यद्यपि रत्नों की भांति यह थोड़ी सस्ती वस्तु दिखाई देती है किन्तु शनि की साढ़े… Read More »

जन्म कुंडली न होने पर किस प्रकार करें ज्योतिष समाधान ?

ज्योतिष शास्त्र में जातक की समस्याओं का कारण और उनका निवारण मिलता है | किन्तु यह तभी संभव हो पाता है जब जातक को अपने जन्म के विषय में ठीक-ठीक जानकारी पता हो जैसे जन्म की तारीख ,सही समय और जन्म का स्थान आदि | इन सब के आधार पर भी जातक की लग्न कुंडली/(Bina Janam Kundali ke… Read More »

शुक्र गृह के प्रभाव और उपाय ! प्रेम संबंध और वैवाहिक जीवन में अनबन का मुख्य कारण !

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार एक जातक के जीवन में स्त्री सुख का कारक गृह शुक्र गृह है | शुक्र गृह के प्रभाव से ही जातक अपने प्रेम संबंध और वैवाहिक जीवन में सुख प्राप्त करता है | इसके साथ ही सुंदर व्यक्तित्व और धन-सम्पति का कारक भी गृह शुक्र गृह ही है | शुक्र गुरु को दैत्यों का… Read More »

मोती रत्न ? मोती रत्न धारण करने की विधि और लाभ

हिन्दू धर्म में जातक के भूत-भविष्य की गणना में ज्योतिष शास्त्र का बड़ा महत्व है | ज्योतिष शास्त्र में जातक की सभी पीडाओं का हल मिलता है | ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जातक को मिलने वाली सभी परेशानियों का संबंध ग्रहों से है | बड़ी ही दुर्लभता ले मिलने वाले रत्न मनुष्य के शारीरिक सौंदर्य को बढ़ाने के… Read More »

जन्म कुंडली में ग्रहों को अनुकूल बनाने के उपाय ! ग्रहों को मददगार कैसे बनाये ?

ज्योतिष शास्त्र के सिद्धांतों के अनुसार गृह अपने फल देते है | उनके लिए कोई उपाय शास्त्र में नहीं बताये गये है | किन्तु गृह राशी की संदेहास्पद स्थिति हो तब उनके उपाय करने के विधान शास्त्र सम्मत माने जाते है | अनिष्ट ग्रहों के विश्वासघात से बचने के लिए उपाय करना मानव के हाथ में है |… Read More »

राहु-केतु गृह दोष ! राहु-केतु की दशाएँ व निवारण के सरल उपाय

राहु और केतु :- राहु और केतु का वास्तविक रूप में सौरमंडल के ग्रहों में अस्तित्व न होते हुए भी ज्योतिष की द्रष्टि में बहुत महत्व है | राहु और केतु को छाया गृह कहा जाता है | इनका वास्तविक अस्तित्व न होते हुए भी ये गृह मानव जीवन को कभी भी अस्त-व्यस्त कर सकते है | शनि… Read More »

ज्योतिष विज्ञान क्या है ? ज्योतिष विज्ञान, सिर्फ एक अनुमान या फिर विज्ञान

ज्योतिष विज्ञान भारत की ऐसी प्राचीन विद्या है जो यह प्रमाणित करती है कि हमारे सौरमंडल में सूर्य के साथ-साथ सभी 9 ग्रहों का प्रत्यक्ष रूप से मानव जीवन पर प्रभाव पड़ता है | भारतीय सभ्यता में लगभग 4000 वर्ष से भी अधिक पुराना यह ज्योतिष विज्ञान आज के समय में बहुत से विद्वानों के लिए वरदान सिद्ध… Read More »

रत्न क्या होते है ? ज्योतिष शास्त्र में रत्न का महत्व ! किस राशि के स्वामी को कौन सा रत्न धारण करना चाहिए

रत्न दिखाई देने में खनिज का एक ऐसा टुकड़ा है जिसे पोलिश, कटाई आदि के बाद दिखने में सुंदर और आकर्षक बना दिया जाता है | वैसे तो इस धरती पर बहुत से रत्न है किन्तु विशेष रूप से 9 रत्न सार्वधिक प्रचलित और अधिक पहने जाते है | सभी रत्न अपने आप में एक दुर्लभ पत्थर होते… Read More »

सभी गृह दोष दूर करने का एक परीक्षित टोटका ! गृह दोष शांति हेतु सरल टोटका

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सौरमंडल में स्थित सभी 9 गृह मानव जीवन पर प्रत्यक्ष रूप से प्रभाव डालते है | जातक की कुंडली में सभी 9 ग्रहों में से किसी एक भी गृह का प्रतिकूल प्रभाव जातक के जीवन को कष्टदायक बना सकता है | ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 7 गृह द्रश्य और 2 गृह छाया गृह( राहू… Read More »

नवग्रह शांति मंत्र | सभी 9 ग्रहों की शांति के लिए इन मन्त्रों का ज़प करें

ज्योतिष शास्त्र का सम्पूर्ण आधार सौरमंडल में स्थित सभी 9 ग्रहों को माना गया है | ज्योतिष शास्त्र को ज्योतिष विज्ञान भी कहा गया है क्योंकि ज्योतिष शास्त्र ने अपने तथ्यों को समय-समय पर वैज्ञानिक द्रष्टिकोण से प्रमाणित किया है | ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सौर मंडल में स्थित 9 ग्रहों को नवग्रह/Navgrah की संज्ञा दी गयी है… Read More »