Category Archives: Uncategorized

सकारात्मक सोच, खुशहाल जीवन जीने का मूल मंत्र

भगवान द्वारा प्राप्त सबसे मूल्यवान उपहार यह मानव शरीर ही तो है | अन्य जीवों की अपेक्षा भगवान ने मानव को एक ख़ास चीज़ प्रदान की है बुद्धि | बुद्धि(मस्तिष्क) के बल पर मानव असंभव कार्यों को भी संभव कर दिखाता है | एक अच्छा और सुविधाजनक जीवन जीने की कला भी इस बुद्धि की देन है |… Read More »

चाँदी की अँगूठी धारण करने से होने वाले लाभ

चाँदी धातु को सात्विक और शीतल माना गया है | चाँदी धातु मूल्य में भले ही सोने से कम हो किन्तु गुणों में सोने से कहीं अधिक है | चाँदी धारण करने से चन्द्र देव और शुक्र गुरु का आशीर्वाद मिलता है | चाँदी और सोने के आभूषण आमतौर पर महिलायें और पुरुष अपने सौंदर्य को निखारने के… Read More »

जानियें, मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु कौन है ?

शत्रु का नाम सुनते ही एक आम व्यक्ति अपने शत्रुओं के विषय में सोचने लगता है | आम तौर पर यह एक मानवीय प्रवृति भी है कि व्यक्ति अपने शत्रु को समय-समय पर नीचा दिखाने में निरंतर प्रयत्नशील रहता है | किन्तु वह इस बात से अनभिग्य रहता है कि शत्रु के विषय में बार-बार सोचकर वह अपने… Read More »

शिव तांडव स्त्रोत | लंकापति रावण द्वारा रचित भगवान शिव की शक्ति और सौंदर्य का अद्भुत परिचय

शिव तांडव स्त्रोत मनुष्य के सभी पापों को हरने वाला व भगवान शिव की महिमा का गुणगान करने वाला बहुत ही सुंदर स्त्रोत है | सुनने में बहुत ही श्रवणप्रिय शिव तांडव स्त्रोत की रचना लंकापति रावण ने मात्र कुछ ही पलों में की थी | भगवान शिव के भक्त अपनी-अपनी श्रद्धा अनुसार भोलेनाथ की पूजा-आराधना करते है… Read More »

पंचमुखी हनुमान जी की कहानी | हनुमान जी ने पाँच मुख धारण क्यों किये ?

हनुमान जी की आराधना शीघ्र फल प्रदान करने वाली है | जो भक्त नियमित हनुमान जी की पूजा-आराधना करते है उन्हें हर प्रकार के भय, शत्रु आदि से छुटकारा मिलता है व सम्पूर्ण जीवन सुखमय व्यतीत करता है | आज हम आपको हनुमान जी के पंचमुखी(Panchmukhi Hanuman Ji Ki Kahani) रूप धारण करने की कहानी के विषय में… Read More »

Bhagwan Goutam Buddh Jivani | भगवान गौतम बुद्ध – जीवनी

बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध को विश्व के प्रसिद्द धर्म सुधारकों व दार्शनिकों में सबसे अग्रणी माना जाता है | दूसरों के प्रति दया, करुणा भाव रखने वाले गौतम बुद्ध सभी के लिए प्रेरणा के स्त्रोत है | भगवान गौतम बुद्ध का जन्म 563 ई. पु. में कपिलवस्तु के पास लुम्बिनी वन में हुआ | आपके पिता… Read More »

घर के आँगन में जरुर लगाये तुलसी का पौधा | तुलसी के पौधे के लाभ

हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे का बहुत महत्व है | तुलसी के पौधे को बहुत ही पवित्र व पूजनीय माना गया है | देव पूजा व अनुष्ठान आदि में तुलसी के पत्तों का प्रयोग किया जाता है | तुलसी का पौधा अपनी पवित्रता के साथ-साथ औषधियों गुणों से भी भरपूर है | तुलसी मुख्यतः दो प्रकार की होती… Read More »

जानियें, हिन्दू धर्म में हवन का महत्व व हवन से मिलने वाले लाभ क्या-क्या है ?

हिन्दू धर्म में पुण्य प्राप्ति हेतु देव आराधना का बहुत महत्व है | देव कृपा प्राप्त करने के लिए उनकी विधिवत पूजा-आराधना व अनुष्ठान किये जाते है | इसके अतिरिक्त मंत्र साधना व हवन(यज्ञ) द्वारा भी अपने आराध्य देव को प्रसन्न किया जाता है | हवन द्वारा देव पूजा अतिशीघ्र फलदायी मानी गयी है | हवन(Havan ka Mahtav)… Read More »

क्या कीमत है एक बार “राम” नाम जपने की ? धार्मिक कहानी

हिन्दू धर्म के अनुसार सभी जातक अपने-अपने पाप और पुण्य के आधार पर सुख और दुःख पाते है | सदा अच्छे कर्म करने के साथ-साथ भगवान का नाम लेने वाले जातक सदा सुखमय जीवन व्यतीत करते है व अपने अगले जन्म में भी अच्छी योनी को प्राप्त करते है, इसके विपरीत सदा वासना में लीन रहने वाले, दूसरों… Read More »

4 वेद क्या है ? ऋग्वेद-यजुर्वेद-सामवेद-अथर्वेद, हिन्दू धर्म के सबसे पुराने धार्मिक ग्रंथ

हिन्दू सभ्यता के सबसे प्राचीन ग्रंथ को वेद कहा गया है | वेदों को श्रुति भी कहा गया है क्योंकि बहुत लम्बे समय तक,जब लिपिक कला विकसित नहीं हुई थी, ये श्रुति के रूप में प्रचलित थे | वेद के रचियता साक्षात् ब्रह्मा को माना गया है जिन्होंने ऋषि-मुनियों को श्रुति के रूप में वेदों का ज्ञान दिया… Read More »