Category Archives: रुद्राक्ष

6 मुखी रुद्राक्ष के लाभ | सिद्ध-अभिमंत्रित व इसे धारण करने की विधि

रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के रूद्र से हुई है इसलिए इसका नाम रुद्राक्ष पड़ा | रुद्राक्ष को पूर्ण विधिवत व श्रद्धा अनुसार धारण करने से भगवान शिव की तो विशेष कृपा प्राप्त होती ही है साथ में रुद्राक्ष को उनके मुख के अनुसार धारण करने से अलग-अलग देवों द्वारा भी आशीर्वाद प्राप्त होता है | एक से… Read More »

3 मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि एवं लाभ

तीन मुखी रुद्राक्ष में ब्रह्मा, विष्णु और महेश तीनों आदि शक्तियों का वास है | इसे धारण करने वाला जातक त्रिदेवों से आशीर्वाद पाता है | तीन मुखी रुद्राक्ष में अग्नि तत्व की प्रधानता है | अग्नि तत्व जो कि पंच तत्वों में भी प्रधान तत्व माना गया है | अग्नि तत्व की प्रमुखता के कारण तीन मुखी… Read More »

सात मुखी रुद्राक्ष के मानव जीवन पर प्रभाव | सात मुखी रुद्राक्ष के लाभ एवं पहनने की विधि

भारतीय संस्कृति में रुद्राक्ष धारण करने का बड़ा ही महत्व बताया गया है | साक्षात् भगवान शिव के स्वरुप कहे जाने वाले रुद्राक्ष में बहुत से दैवीय गुण होते है | आज हम आपको सात मुखी रुद्राक्ष की विशेषताओं के विषय में विस्तृत जानकारी देने वाले है | सात मुखी/(Saat Mukhi Rudraksh ke Labh)रुद्राक्ष को माँ लक्ष्मी का… Read More »

रुद्राक्ष पहनने के नियम | रुद्राक्ष से पूर्ण लाभ प्राप्त करना है तो इन नियमों का पालन अवश्य करें

साक्षात् भगवान शिव के रूद्र रूप कहे जाने वाले रुद्राक्ष की उत्त्पति भगवान शिव की आँखों से निकले आंसुओं से हुई | पुराणों में ऐसा वर्णन है कि लम्बे समय तक साधना में लीन भगवान शिव ने जैसे ही अपनी आँखे खोली उनकी आँख से कुछ आंसू पृथ्वी पर आ गिरे | पृथ्वी पर जहाँ-जहाँ भगवान शिव के… Read More »

1 से 14 मुखी रुद्राक्ष की सम्पूर्ण जानकारी | रुद्राक्ष धारण करें और पाए सभी कष्टों से निवारण |

 Rudraksha रुद्राक्ष ⇔ सम्पूर्ण जानकारी  रुद्राक्ष Rudraksha एक फल के अंदर निकलने वाला बीज है जिसका पेड़ पहाड़ी क्षत्रों में पाया जाता है | धार्मिक मान्यता के अनुसार जब भगवान शिव ने कठोर तपस्या के बाद अपने नेत्र खोले तो  उनकी आँखों से कुछ आंसू पृथ्वी पर आ गिरे जिनसे रुद्राक्ष के पेड़ की उत्त्पत्ति हुई | रुद्राक्ष = रूद्र… Read More »