Tag Archives: Hanuman Ashtak

हनुमान चालीसा पाठ करने की विधि एवं लाभ

जब कभी भी किसी भक्त की निष्ठा की बात होती है तो हनुमान जी से बढ़कर और कोई नहीं | भगवान श्री राम के प्रति उनकी भक्ति सभी भक्तों के लिए प्रेरणा स्त्रोत है | हनुमान जी के जैसा भक्त न कोई हुआ है और न होगा | इसलिए भगवान श्री राम के आशीर्वाद से हनुमान जी को… Read More »

इस Post को Share करें :

पंचमुखी हनुमान जी की कहानी | हनुमान जी ने पाँच मुख धारण क्यों किये ?

हनुमान जी की आराधना शीघ्र फल प्रदान करने वाली है | जो भक्त नियमित हनुमान जी की पूजा-आराधना करते है उन्हें हर प्रकार के भय, शत्रु आदि से छुटकारा मिलता है व सम्पूर्ण जीवन सुखमय व्यतीत करता है | आज हम आपको हनुमान जी के पंचमुखी(Panchmukhi Hanuman Ji Ki Kahani) रूप धारण करने की कहानी के विषय में… Read More »

इस Post को Share करें :

सम्पूर्ण संकटमोचन हनुमान अष्टक | प्रतिदिन हनुमान अष्टक के पाठ से होती है सभी मनोकामनाएं पूरी

हनुमान जी की आराधना में हनुमान चालीसा , बजरंग बाण और संकटमोचन हनुमान अष्टक के पाठ का बड़ा महत्व है | संकटमोचन हनुमान अष्टक(Sankat Mochan Hanuman Ashtak) के नियमित पाठ से भक्त पर आये घोर से घोर संकट भी दूर होने लगते है |बचपन में हनुमान जी बहुत ही शरारती थे | शुरू से असीमित शक्तियों के स्वामी… Read More »

इस Post को Share करें :

Bajrang Baan in Hindi सम्पूर्ण हनुमान बजरंग बाण, बजरंग बाण पाठ करने के लाभ

Shri Bajrang baan/ श्री बजरंग बाण हनुमान जी की कृपा पाने हेतु सभी भक्तजन भिन्न -भिन्न प्रकार से हनुमान जी की पूजा करते है जिनमें नियमित रूप से हनमान चालीसा और बजरंग बाण Bajrang Baan  का पाठ करना हनुमान जी को अति प्रिय है | हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ हमेशा बोलकर करने चाहिए जबकि मंत्र… Read More »

इस Post को Share करें :