मोटापा कम करने के जबरदस्त घरेलु उपाय ! Motapa kam karne ke gharelu upay

By | October 16, 2017

Motapa kam karne ke Gharelu upay 

मानव शरीर में रंग और रूप तो भगवान की देन है किन्तु मानव शरीर की बनावट को आकर्षित बनाना व्यक्ति के खुद हाथ में होता है | मानव शरीर के सम्पूर्ण सोंदर्य में शारीरिक बनावट का बहुत महत्व होता है | ऐसे में मोटापा/Motapa किसी भी व्यक्ति के सोंदर्य जीवन में कलंक लगाने का कार्य कर सकता है | मोटापा शारीरिक सोंदर्य के साथ -साथ व्यक्ति के स्वास्थ्य को भी बुरी तरह से प्रभावित करता है | वर्तमान समय में मोटापा/Motapa कम करने की सैंकड़ों दवाइयां बाजार में उपलब्ध है | इस प्रकार की दवाएं मोटापा कम करने की 100% गारंटी देती है किन्तु वास्तविक रूप में ये दवाएं सीमित समय के लिए प्रभावित होती है और स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालती है | इसलिए व्यक्ति मोटापा/Motapa कम करने के घरेलु उपायों /Motapa kam karne ke Gharelu upay  की तरफ अधिक रूचि लेने लगते है |

Motapa kam karne ke upay

मोटापा होने के कारण/Motapa Hone Ke Karan : –

शरीर में अधिक चर्बी(वसा ) का एकत्रित होना ही मोटापा का मुख्य कारण बनता है | इस भागदौड़ और प्रतिस्पर्धा से भरे जीवन में व्यक्ति अपने खान -पान की तरफ बिलकुल ध्यान नहीं दे पाता और मोटापा के साथ -साथ बहुत सी बीमारियों को बुलावा दे बैठता है | समय पर खाना न खाना , संतुलित भोजन का सेवन न करना , अधिक तैलीय और मसालेदार भोजन की तरफ रूचि रखना, फल और जूस का समय -समय पर सेवन न करना , नींद कम लेना , मानसिक तनाव और शारीरिक श्रम का अभाव मोटापा होने के मुख्य कारण बन सकते है | इसके अतिरिक्त कभी -कभी मोटापा/Motapa जेनेटिक और हार्मोनल कारणों से भी हो सकता है |

मोटापा होने का सबसे बड़ा कारण शारीरिक श्रम का न करना है | लम्बे समय तक कुर्सी पर बैठे रहना और पैदल न चलना , व्यायाम न करना , खेल -कूद न करना ये सब  21वीं सदी की देन है मशीनीकरण का यह युग मनुष्य को शारीरिक परिश्रम करने से रोकता है | जिसके कारण भोजन द्वारा ली जाने वाली वसा, उर्जा में परिवर्तित नहीं हो पाती और धीरे -धीरे यह वसा शरीर में चर्बी के रूप में जमा होकर मोटापे/Motape को जन्म देती है |

मोटापा कम करने के घरेलु उपाय/Motapa Kam Karne Ke Gharelu Upay : – 

एक बार शरीर में मोटापा आने के बाद इस को पूरी तरह से नियंत्रित करना बहुत ही मुश्किल है | किन्तु यदि समय रहते (मोटापे के शुरू होते ही ) यदि उपचार करने शुरू किये जाये तो इसे नियंत्रित किया जा सकता है | भोजन में वसा की मात्रा को नियंत्रित कर यदि आप नीचे दिए गये घरेलु नुस्खों को अपनाते है तो समय पर आप अपने मोटापे को नियंत्रित कर सकते है :

  • सुबह -सुबह शौच आदि से निवृत होकर एक बड़े गिलास हल्के गरम पानी में 1 चम्मच शहद और 1 निम्बू का रस मिला ले, अब इसमें थोड़ी (1/4 चम्मच ) काली मिर्च का पाउडर मिलाकर सेवन करें | कम से कम 3 माह तक लगातार इसे प्रयोग करें और बेहतर परिणाम मिलने तक इस उपाय को करते रहे |
  • एक बड़े गिलास पानी को उबाल ले और उबालते समय इसमें एक चम्मच सौफ़ डाल दे | आधा मिनट उबालने के बाद इस पानी को ठंडा होने पर सेवन करें | इस उपाय को 2 माह तक प्रतिदिन करें और परिणाम देखे, शीघ्र ही मोटापा/Motapa नियंत्रित होने लगेगा |
  • सुबह -सुबह खाली पेट 1/2 गिलास करेले के रस में एक निम्बू का रस मिलाकर पीने से पेट की चर्बी कम होने लगती है इस उपाय का एक माह से अधिक प्रयोग किसी अच्छे वैद्य से सलाह लेकर ही करें |
  • दोपहर में खाना खाने के पश्चात् एक बड़े गिलास छाछ में काला नमक और अजवाइन मिलाकर पीये | मोटापा नियंत्रित करने के इस उपाय को आप प्रतिदिन कर सकते है |
  • प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक गिलास  गरम(गुनगुने ) पानी में एक निम्बू और काला नमक मिलाकर पीने से मोटापा कम होने लगता है |
  • रोज सुबह खाली पेट एक या दो टमाटर खाने से मोटापा धीरे -धीरे कम होने लगता है | इसके अतिरिक्त कच्ची पत्तागोभी का सेवन भी पेट की चर्बी कम करने में सहायक होता है |
  • वर्तमान समय में ग्रीन टी (Green Tea ) का सेवन मोटापा/Motapa कम करने में बहुत ही प्रभावी रहा है | वैज्ञानिक शोध के अनुसार लगातार ग्रीन टी (Green Tea ) प्रयोग करने से पेट की अतिरिक्त वसा कम होने लगती है |  ग्रीन टी (Green Tea ) का सेवन दिन में तीन बार किया जाना चाहिए | सुबह खाली पेट ग्रीन टी (Greeen Tea ) का प्रयोग पेट की वसा कम करने में अधिक प्रभावी होता है |
  • एक कप गरम पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर और एक चम्मच ऑर्गेनिक शहद मिलाकर सुबह खाली पेट सेवन करें | इस प्रयोग से शीघ्र ही मोटापा नियंत्रित होने लगता है |
  • त्रिफला चूर्ण का सेवन भी मोटापा नियंत्रित करने में सहायक होता है | इसके लिए 10 ग्राम त्रिफला चूर्ण एक गिलास पानी में अच्छे से कुछ देर तक उबाले और छानकर सुबह -सुबह सेवन करें |
  • मोटापा कम करने में अदरक का प्रयोग भी प्रभावी सिद्ध हुआ है | मोटापे से ग्रसित व्यक्ति को अदरक का सेवन अवश्य करना चाहिए |

Motapa kam karne ke gharelu upay

मोटापा कम करने की आयुर्वेदिक दवा/Aurvedic Medicine : – 

वैसे तो मोटापा/Motapa कम करने के घरेलु उपचार बहुत ही प्रभावी सिद्ध होते है लेकिन कभी -कभी मोटापे की समस्या थोड़ी अधिक जाती है तो ऐसे में घरेलु उपचार के अतिरिक्त आयुर्वेदिक औषधि का प्रयोग अधिक करना चाहिए |

बाज़ार में प्रचलित कुछ आयुर्वेदिक दवाएं जिनके परिणाम काफी अच्छे मिलते है और इनके प्रयोग से स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव भी नहीं पड़ता,  इस प्रकार से है : –

दिव्य मेदोहर वटी/ Divya Medohar Vati :- 

दिव्य मेदोहर वटी, पतंजली के सबसे प्रचलित उत्पादों में से एक है | यह पूर्णतया जड़ी -बूटियों से निर्मित होने के साथ-साथ पूर्णतया सुरक्षित भी है | यह पेट की चर्बी कम करने के साथ -साथ पाचन संबंधी विकार को भी ठीक करती है | मेदोहर वटी में आमला, बहेड़ा और हरड के साथ साथ शुद्ध गुग्गल और बबूल गोंद घटक प्रचुर मात्रा में है जो शरीर से अतिरिक्त चर्बी को कम करने का कार्य करते है | मोटापे से परेशान व्यक्तियों के लिए यह एक उत्तम आयुर्वेदिक औषधि है |

दिव्य पेय /Divya Peya :- 

दिव्य पेय, पतंजलि का यह उत्पाद ग्रीन टी से मिलता जुलता है | यह कार्य भी ग्रीन टी की तरह ही करता है किन्तु दिव्य पेय का परिणाम ग्रीन टी से काफी अच्छा है और नियमित प्रयोग के लिए सुरक्षित भी है |

मेदोहर गुग्गुलु/Medohar Guggulu :- 

बैद्यनाथ आयुर्वेद भवन द्वारा निर्मित मेदोहर गुग्गुलु शरीर से अतिरिक्त वसा कम करने की बहुत ही प्रभावी औषधि है | पूरी से तरह से जड़ी -बूटियों द्वारा निर्मित मेदोहर गुग्गुलु शरीर से मोटापा कम करने के अतिरिक्त पाचन तंत्र पर भी कार्य करती है | मेदोहर गुग्गुलु शरीर से मेद- धातु को हरती है इसलिए इसका नाम मेदोहर है | मेद धातु शरीर में धारण और पोषण कर कार्य करती है | शरीर में मेद धातु की अधिकता व इसका विकृत रूप ही वसा के रूप में मोटापे को जन्म देता है |

Note : इस प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियों का प्रयोग आप किसी अच्छे वैद्य से सलाह लेकर ही करें |

मोटापा कम करने में ध्यान देने योग्य बातें :- 

  • खाना समय पर ही और थोड़े -थोड़े अन्तराल पर खाए | एक बार में अधिक खाना न खाए |
  • खाने में तरल पदार्थों का सेवन अधिक करें और पानी खूब पीये |
  • अपने खाने का एक साप्ताहिक Diet चार्ट तैयार करें और उसी के अनुसार खाने की आदत में बदलाव करें |
  • मीठा शरीर को तुरंत उर्जा देता है | अतिरिक्त उर्जा भी चर्बी का रूप ले सकती है | इसलिए मीठा खाने से बचे |
  • तले हुए और मसालेंदार फ़ास्ट फ़ूड खाना बंद करें |
  • आलू और चावल का सेवन कम करें |
  • तेल और घी का प्रयोग कम करें |
  • शराब ,तम्बाखू और कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन बिल्कुल बंद कर दे |
  • जहाँ तक हो सके ताजा खाना खाए , फ्रीज़ में रखे व बासी भोजन के सेवन से बचे |
  • हरी सब्जी, फल व जूस का नियमित रूप से सेवन करें और मौसम के अनुसार आने वाले फलों को खूब खाएं |
  • खाने की ऐसी वस्तुओं का सेवन करें जिनमें फाइबर की मात्रा प्रचुर मात्रा में हों,
  • गाय के दूध का अधिक सेवन करें | यदि भैस का दूध लेते है तो इसमें से मलाई को निकाल कर फिर पीये |
  • सुबह के नाश्ते में अंकुरित अनाज का सेवन करें |

इन सब के अतिरिक्त शारीरिक श्रम करना मोटापा कम करने में सबसे अधिक प्रभावी है | नियमित रूप से खेल-कूद , व्यायाम , योग और सुबह -सुबह सैर करना मोटापा को नियंत्रित करने के साथ -साथ भविष्य में भी मोटापा होने की सभी संभावनाओ को कम करता है | नियमित रूप से खेल -कूद में हिस्सा लेने वाले और मेहनत करने वाले व्यक्ति मोटापा जैसी समस्याओं से कोंसो दूर रहते है |

मोटापा कम करने के ये घरेलु उपाय(Motapa Kam Karne Ke Gharelu Upay )  अपना प्रभाव तब दिखाते है जब आप उपरोक्त दिए गये – “मोटापा कम करने में ध्यान देने योग्य बातों” का पालन करते हुए द्रढ़ निश्चय के साथ ये मन बनाये की मुझे अपना मोटापा कम करना ही है | क्योंकि आमतौर पर देखा जाता है कि व्यक्ति मोटापा रहते हुए इतनी तकलीफ महसूस नहीं करता जिनती कि उसे लगने लगता है कि वह मोटापा कम करने में उठा रहा है | सबसे महत्वपूर्ण टिप्स : आज से ही खेल-कूद , मेहनत करना , पैदल चलना , सुबह की सैर या हल्की दौड़ लगाना, व्यायाम करना और योग करना अपनी नियमित दिनचर्या में शामिल करें और फिर देखे आपका मोटापा/Motapa कैसे गायब होने लगता है |    जानिए :     ♣ भगवान शिव को शिवलिंग के रूप में क्यों पूजा जाता है ? ♣

♣  सर्दी -जुकाम व खांसी के अचूक घरेलु उपाय  ♣

 

314 total views, 2 views today

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *